छत्तीसगढ़ में रविवार 19 जनवरी को ‘पल्स पोलियो अभियान’ 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। वहीं, दूसरे दिन सोमवार को छूटे हुए बच्चों को स्वास्थ्य विभाग और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएंगे।

मिली जानकारी के अनुसार रायपुर जिले में 3,42,544 बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। इसके लिए 1370 बूथ लगाए जाएंगे, जहां बच्चों को ले जाकर पोलियो की खुराक पिलाई जा सकेगी। बताया गया कि हर बूथ में 4 कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी, जो बच्चों को दावा पिलाएंगे।

इस संबंध में अपर कलेक्टर पदमिनी भोई साहू ने बीते दिनों  जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक ली थी। बैठक के दौरान उन्होंने पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने के लिए निर्देश दिए थे। बैठक में डाॅ मीरा बघेल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ विकास तिवारी एवं डाॅ नितिन पाटिल, सर्विलेन्स मेडिकल ऑफिसर डब्लूएचओ ने जानकारी देते हुए बताया कि हमारे पड़ोसी देशों पाकिस्तान, अफगानिस्तान सहित कई अन्य देशों में पोलियो के वाइल्ड वायरस पाए गए हैं, जिससे हमारे देश के बच्चों पर भी खतरा मंडराने लगा है। भारत के बच्चे पोलियो के वायरस की चपेट में न आ जाएं इसलिए भारत सरकार द्वारा नियमित टीकाकरण के अतिरिक्त राष्ट्रीय सघन पल्स पोेलियो कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने साल 2019 मे पूरे भारत में चलाए गए पल्स पोलियो अभियान की सफलता की भी जानकारी दी।

SHARE