साल के आखिरी महीने में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन की मेजबानी इस बार भारत करेगा। इस समिट में शामिल होने के लिए मोदी सरकार पाक पीएम इमरान खान सहित चीन, रूस, कजाकस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के प्रधानमंत्री को न्योता भेजेगी।

बता दें कि सदस्य देश के राष्ट्राध्यक्ष होने के नाते मोदी सरकार को जरूरी है वे सभी देशों के प्रधानमंत्री को समिट में शामिल होने के लिए न्योता भेजे। वहीं पहला ऐसा मौका होगा जब भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत बंद होने के बाद इमरान खान और पीएम मोदी किसी एक कार्यक्रम में साथ आ सकते हैं।


पिछले साल जून 2019 में शंघाई सहयोग संगठन का आयोजन बिश्केक में हुआ। SCO समिट में पीएम मोदी पहुंचे और उन्होंने यहां आतंकवाद के मुद्दे पर एकजुट होने की अपील की थी। वहीं अब भारत में होने वाले SCO समिट में आंतकवाट पर चर्चा होगी। बात दें कि SCO राष्ट्रप्रमुखों की मीटिंग में प्रधानमंत्री शिरकत करते हैं। ऐसे में देखना बेहद दिलचस्प होगा कि क्या इमरान खान भारत आते हैं या नहीं।

SHARE