देश के कई राज्यों में सीएए और एनआरसी को लेकर प्रदर्शन का दौर लगातार जारी है। वहीं, दूसरी ओर देश की राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में प्रदर्शनकारी पिछले दो म​हीने से भी ज्यादा समय से प्रदर्शन पर डटे हुए हैं। इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि जो कोई भी सीएए से जुड़े मुद्दों पर मुझसे चर्चा करना चाहता है मेरे कार्यालय से समय ले सकता है। हम तीन दिनों के अंदर समय देंगे।

दरअसल अमित शाह ने यह बात एक मीडिया संस्थान को इंटरव्यू देते हुए कहा है कि इस दौरान उन्होंने दिल्ली चुनाव में मिली हार को लेकर भी बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा है कि दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौराान भाजपा नेताओं को ‘देश के गद्दारों को’ और ‘भारत- पाकिस्तान मैच’ जैसे बयान नहीं देना चाहिए। ऐसे बयानों से सिर्फ पार्टी को नुकसान होता है। दिल्ली में हुई हार को लेकर उन्होंने कहा है कि भाजपा केवल जीत या हार के लिए चुनाव नहीं लड़ती है बल्कि चुनावों के मार्फत अपनी विचारधारा के प्रसार में भरोसा करती है।

उन्होंने कहा है कि हमारे नेताओं द्वारा प्रचार के दौरान दिए गए विवादित बयानों का खामियाजा पार्टी को दिल्ली में उठाना पड़ा है। दिल्ली चुनावों पर उनके आकलन गलत हुए, लेकिन जोर दिया कि चुनाव परिणाम नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर जनादेश नहीं था।

SHARE