प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 16 फरवरी को पड़ाव में होने वाली जनसभा में 50 हजार लोगों को जुटाने की तैयारी है। काशी क्षेत्र भाजपा की ओर से इसके लिए एक लाख आमंत्रण कार्ड बांटने का काम शुरू हो गया है। जनसभा में बनारस के अलावा आसपास के जिलों के कार्यकर्ता भी आएंगे। पड़ाव में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का पीएम अनावरण करेंगे। यह यूपी में सबसे ऊंची (63 फुट) प्रतिमा होगी। अनावरण और जनसभा के बाद पीएम लालपुर स्थित दीनदयाल हस्तकला संकुल में काशीवासियों को एक हजार नौ करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे। इसके बाद ‘काशी एक रूप अनेक’ कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे। वह प्रबुद्धजनों संग संवाद भी करेंगे।

इससे पहले पीएम जंगमबाड़ी मठ के वीर शैव महाकुंभ में शामिल होंगे। ढोल, नगाड़े, शंख ध्वनि के बीच कार्यकर्ता पीएम पर गुलाब के फूल बरसाएंगे। बृहस्पतिवार को गुलाब बाग स्थित कार्यालय में बैठक हुई। इसमें सभी मोर्चा, प्रकल्पों, प्रकोष्ठों, विभागों के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गई। क्षेत्र के महामंत्री अशोक चौरसिया ने कहा कि पूरे शहर में होर्डिंग लगाने के अलावा स्वागत के लिए 40 प्वाइंट बनाए गए हैं।

जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने कहा कि दीनदयाल हस्तकला संकुल से लाल बहादुर शास्त्री हवाई अड्डे तक स्वागत की जिम्मेदारी कठिराव, लमही, हरहुआ, आयर मंडल को दी गई है। महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय ने कहा कि बीएचयू हेलीपैड से जंगमबाड़ी मठ तक पीएम के स्वागत की जिम्मेदारी कैंट विधानसभा के डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी और महामना मंडल को दी गई।

जनसभा स्थल की जिम्मेदारी क्षेत्रीय उपाध्यक्ष नागेंद्र रघुवंशी को सौंपा गया। स्वच्छता और पेयजल की जिम्मेदारी नरसिंह दास को दी गई। बैठक में नवरतन राठी, डा. रचना अग्रवाल, अनिल श्रीवास्तव आदि शामिल रहे।

जंगमबाबा की समाधि पर पूजन करेंगे पीएम
वीर शैव महाकुंभ में शामिल होने जंगमबाड़ी मठ आ रहे प्रधानमंत्री के स्वागत की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मठ में बटुकों द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए रोजाना अभ्यास चल रहा है। वहीं मठ प्रबंधन भी इस आयोजन का भव्य बनाने में जुटा हुआ है।

मठ के महंत डॉ. चंद्रशेखरा शिवाचार्य स्वामी ने बताया कि पीएम जंगमबाबा की समाधि सहित संतों की समाधियों पर पूजन करेंगे। इस दौरान पीएम दुर्लभ पांडुलिपियों के भी दर्शन करेंगे जिसे मठ में वर्षों से सहेज कर रखा गया है।

SHARE